Share

बिहार चुनावों भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी : सचिन पायलट

लखनऊ || पूर्व केंद्रीय मंत्री सचिन पायलट मोदी सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा कि मोदी के कार्यकाल का एक साल पूरा हो गया है। अब तो जनता एक साल में खुद को ठगा हुआ सा महसूस कर रही है। अभी तक बहुमत के अहंकार में चूर भारतीय जनता पार्टी को बिहार के आगामी विधानसभा चुनावों में मुंह की खानी पड़ेगी, यह तय है। लखनऊ में उत्तर प्रदेश कांग्रेस के मुख्यालय में सचिन पायलट ने कहा कि मोदी के कार्यकाल का एक साल पूरा हो गया है।

sachpilotभाजपा ने इस बार लोकसभा चुनावों से पहले किया गया एक भी वायदा नहीं पूरा किया है। जनता अब उसकी हकीकत जान चुकी है। भाजपा चुनावों में अपनी खराब स्थिति की आशंका के मद्देनजर अब जाति और धर्म की राजनीति करने पर उतर आयी है। श्री पायलट ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशों का दौरा कर रहे हैं, यह ठीक बात है, लेकिन उन्होंने कई जगह कुछ नकारात्मक टिप्पणियां की हैं, जो उन्हें शोभा नहीं देता।

वह भाजपा या एनडीए के नहीं बल्कि पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी के विदेश दौरे पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन उनको देश के अन्नदाता किसानों का भी ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि आज किसान की बात सुनने वाला कोई नहीं है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस तरह संसद के भीतर और बाहर किसानों
का मुद्दा उठाया है, उससे भाजपा नेताओं में हड़कंप मच गया है। किसानों के साथ धोखाधड़ी की गई है और इस मुद्दे पर समूचा विपक्ष एकजुट है।

उन्होंने कहा कि पिछले एक साल के दौरान कृषि क्षेत्र की अनदेखी की गई है। चना, गेहूं और कपास जैसी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं बढ़ाया गया। राज्यों को कह दिया गया कि वे बोनस नहीं दे सकते। यूरिया और उर्वरक की कमी है। डीजल और पेट्रोल के दाम आठ बार बढ़ाए गए। किसानों को ना तो मुआवजा दिया गया और ना ही ऋण माफी की योजनाओं का लाभ।