Share

प्रेस परिषद् की टीम से मिला मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति का प्रतिनिधिमंडल

लखनऊ || उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति लखनऊ आये प्रेस परिषद् के सदस्यों से मिला और पत्रकारों से सम्बंधित समस्याओं का ज्ञापन सौंपा. समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी के नेतृत्व में प्रेस परिषद् से मिलने पहुंचे प्रतिनिधिमंडल ने विगत कई वर्षों से उत्तर प्रदेश में पत्रकारों को मान्यता देने वाली मान्यता समिति का गठन न किये जाने पर चिंता जताते हुए कहा कि इस सन्दर्भ में माननीय उच्च न्यायलय के आदेशों व् प्रेस परिषद् के निर्देशों की खुली अवहेलना की जा रही है.

roundcubeहेमंत तिवारी ने प्रेस परिषद् की टीम को अवगत कराया कि मान्यता समिति का गठन न होने से समस्त आर्हता पूरी करने वाले कई पत्रकारों की मान्यताएं नहीं हो पा रही हैं. हेमंत तिवारी ने प्रेस परिषद् को सौंपे अपने ज्ञापन में आकाशवाणी व् दूरदर्शन के संवाददाताओं को अन्य मान्यता प्राप्त संवाददाताओं की भांती सुविधाएं दिए जाने की मांग की. श्री तिवारी ने डेस्क पर कार्य करने वाले पत्रकारों को राज्य कर्मचारियों की भांती चिकित्सा सुविधा न मिलने का मुद्दा भी उठाया और कहा कि इस सन्दर्भ में भी राज्य सरकार से स्पष्ट आदेशों के बावजूद भी सुचना विभाग द्वारा कार्ड जारी नहीं किये जा रहे हैं. उत्तर प्रदेश में पत्रकारों पर हो रहे हमलों और उनको मिल रही धमकियों के मद्देनजर पत्रकार सुरक्षा क़ानून बनाये जाने की मांग करते हुए हेमंत तिवारी ने कहा कि पत्रकारों के लिए भी 1090 की तरह 24 घंटे काम करने वाली हेल्पलाईन शुरू की जाय.

प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने न्यू मिडिया में काम कर रहे पत्रकारों की सुरक्षा का भी मुद्दा उठाया. हेमंत तिवारी ने प्रेस परिषद् की टीम की सभी सदस्यों के साथ ही सूचना निदेशक एस के ओझा के समक्ष पत्रकारों के पेंशन, दुर्घटना बीमा आदि विषयों पर पूर्व में दिए गए प्रतिवेदनों पर विचार करने की मांग की. प्रेस परिषद् से मिलने गए प्रतिनिधि मंडल में उपाध्यक्ष अरुण त्रिपाठी, उपाध्यक्ष मो. ताहिर, सचिव सिद्धार्थ कलहंस, संयुक्त सचिव श्रीधर अग्निहोत्री, कोषाध्यक्ष इन्द्रेश रस्तोगी, कार्यकारिणी सदस्य मोहम्मद अजीज सिद्दीकी, शबीहुलल हसन के अलावा मो. कामरान, प्रदीप नारायण, राजेश मिश्र, सुभाष पाण्डेय, मो. अतहर शामिल थे.