Share

नागरिक सुरक्षा लखनऊ को बनाए पीपीपी मॉडल का उदाहरण

लखनऊ || आईजी नागरिक सुरक्षा अमिताभ ठाकुर ने आज लखनऊ जिले के नागरिक सुरक्षा ईकाई को देश की श्रेष्ठतम नागरिक सुरक्षा ईकाईओं में विकसित करने और इसे पब्लिक-प्राइवेट-पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल का एक उदाहरण बनाए जाने का आवाहन किया.

Civil Defence meet1आज आये भूकंप के तत्काल बाद नागरिक सुरक्षा के कण्ट्रोल रूप में बुलाई गयी इस बैठक में उन्होंने कहा कि नागरिक सुरक्षा को आपदा राहत और आपदा कार्यों की जागरूकता के कार्यों के लिए स्वयं को पूरी तरह तैयार करना होगा और इसके लिए जनता को अपने साथ लाने की पूरी कवायद करनी होगी.

बैठक में यह निर्णय हुआ कि नए बस रहे शहर के सभी भागों में नागरिक सुरक्षा वार्डन बनाए जायेंगे और इनमे ख़ास कर ऊँची बिल्डिंग वाले गोमतीनगर एक्सटेंशन जैसे इलाकों ओर विशेष ध्यान दिया जाएगा.

ठाकुर ने कहा कि प्रत्येक वार्डन कम से कम पचास लोगों को अपने साथ व्हाट्सएप और ट्विटर पर जोड़ेगा ताकि वे वार्डन के एक आदेश पर तत्काल राहत या अन्य कार्यों में सामने आ सकें.

बैठक में चीफ वार्डन प्रमोद चौधरी, उपनियंत्रक अनीता प्रताप सहित सभी डिविजनल वार्डन मौजूद थे.